सिपाही भर्ती परीक्षा में चाक-चौबंद दिखी व्यवस्था, परीक्षा संपन्न कराने के लिए एडिशनल एसपी ग्रामीण, सीओ सिटी समेत सैकड़ो पुलिस बल की लगी ड्यूटी

0
126

योगेश यादव

सुलतानपुर। पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा सकुशल रूप से संपन्न कराने के लिए जिले की पुलिस मुस्तैद नजर आई। दो दिनों की चार पारियों में होने वाली इस परीक्षा में तकरीबन 28 हज़ार परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्रत्येक पाली में 7000 परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्रत्येक पाली की परीक्षा 2 घंटे 5 मिनट की होगी। आज रविवार को सुबह 8:00 बजे से ही परीक्षार्थियों को सेंटर पर प्रवेश दिया गया और 9:30 बजे प्रवेश बंद कर दिया गया। रविवार सुबह 10:00 बजे शुरू हुई यह परीक्षा 12:5 पर खत्म हुई ।वहीं द्वितीय पाली की परीक्षा 3:00 बजे शुरू होगी और 5:05 पर खत्म होगी।एसपी अनुराग वत्स के निर्देश पर इस पूरी चुनौतीपूर्ण परीछा के नोडल अधिकारी एडिशनल एसपी ग्रामीण शिवराज प्रजापति बनाये गए हैं। क्षेत्राधिकारी नगर श्याम देव ने बताया कि प्रथम पाली की परीक्षा सकुशल संपन्न हो चुकी है कहीं पर किसी भी प्रकार का व्यवधान नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि जनपद में कुल 9 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिनको 3 सेक्टर में बांटा गया है। एक सेक्टर(तीन परीछा केंद्र) में एक सीओ की ड्यूटी लगी है। नौ परीक्षा केंद्रों पर अलग-अलग 9 थानाध्यक्ष ड्यूटी पर लगाए गए हैं। सेंटर के मुख्य गेट पर एक उपनिरीक्षक ,दो पुरुष कांस्टेबल व एक महिला कांस्टेबल सुरक्षा के लिए लगाए गए है। परीक्षार्थियों के कमरे में लगे प्रत्येक सीसीटीवी कैमरे की निगरानी के लिए एक सब इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल ड्यूटी पर अलग से लगाए गए हैं। जो विभिन्न फुटेज पर निगरानी कर सकेंगे ।
ट्रैफिक समस्या दूर करने के लिए भी पुलिस ने कमर कसी है।यातायात पुलिस बल के अलावा एक सीओ ,दो एसओ समेत कई सब इंस्पेक्टर यातायात पर निगरानी करेंगे। मसलन रोडवेज, रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर वह ड्यूटी करेंगे। सीओ सिटी समेत कोतवाली नगर की पुलिस इमरजेंसी के लिए तैनात परीक्षा सकुशल संपन्न कराने के लिए पुलिस अधीक्षक अनुराग वर्ष के निर्देश पर सीओ सिटी श्याम देव समेत कोतवाली नगर के सचिव राम बोध तिवारी समेत 11 चौकी के प्रभारी किसी भी इमरजेंसी के लिए तत्काल पहुंचने के लिए तत्पर रहेंगे । एडिशनल एसपी ग्रामीण शिवराज प्रजापति की देखरेख में सारी परीक्षा संपन्न हो रही है। वह किसी भी क्षण कोई बदलाव करने ,सुरक्षा व्यवस्था में कोई बदलाव करने या किसी समस्या आने पर तत्काल कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र रहेंगे। पुलिस भर्ती बोर्ड की परीक्षा कराने के लिए टाटा कंसलटेंसी एजेंसी की देखरेख में हो रही परीक्षा । टाटा कंसलटेंसी के कर्मचारियों की जिम्मेदारी है कि वह प्रश्न पुस्तिकाएं परीक्षार्थी तक पहुंचाएं ,निगरानी करें और बायोमैट्रिक अंगूठे के निशान द्वारा या चेक करें कि सही सीट पर क्या सही परीक्षार्थी बैठा है कि नहीं ? जिससे पारदर्शी परीक्षा संपूर्ण रूप से संपन्न हो सके ।